आज की दुनिया

कितनी अहमियत दे रखी है तुमने इस दुनिया को इनसान ,

वो दुनिया जो किसी की परवाह नहीं करती।

वो जो अकेला छोड़ जाती है एक अकेले को,

और भीड़ बन जाती है ईक झूठी तस्वीर के पीछे ।

वो दुनिया जो भूखे को रोटी मांगने पर धक्का मारती है ,

और रोटी फेंकने वाले से डर कर कुछ नहीं कह पाती है।

वो दुनिया जो समाज के नाम पर इंसानियत भुल जाती है ,

और कभी कभी तो हैवानियत की भी दलीलें दे जाती है ।

क्यों इतनी अहमियत दे रखी है तुमने इस दुनिया को इनसान ।

4 thoughts on “आज की दुनिया

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s