Glass ceiling

Photo by Julio Motta from Pexels

ना कांच की छतें ,

ना दिवारों की बंद खिड़कियाँ,

क्या रोक सकी हैं तुम्हें?

क्या रोक सकेंगी?

©Dr.Kavita